राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड:रोहित शर्मा, पैरा एथलीट थंगावेलु समेत 5 खिलाड़ियों को मिलेगा खेल रत्न

0
283

सचिन, धोनी और विराट के बाद रोहित चौथे क्रिकेटर

खेल रत्न से सम्मानित मीराबाई और साक्षी का नाम अर्जुन अवॉर्ड की सूची में नहीं

नयी दिल्ली :  खेल मंत्रालय ने पांच खिलाड़ियों को इस साल का राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार देने के फैसले पर मुहर लगा दी। इसमें रोहित शर्मा (क्रिकेट), मरियप्पन टी (पैरा एथलीट), मनिका बत्रा (टेबल टेनिस), विनेश फोगाट (रेसलिंग) और रानी रामपाल (महिला हॉकी) शामिल हैं। रोहित देश का सबसे बड़ा खेल सम्मान पाने वाले चौथे क्रिकेटर होंगे। उनसे पहले सचिन तेंदुलकर, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली को यह अवॉर्ड मिल चुका है।

तेंडुलकर पहले भारतीय क्रिकेटर थे, जिन्हें 1998 में खेल रत्न दिया गया था। धोनी को 2007 और कोहली को 2018 में वेटलिफ्टर मीराबाई चानू के साथ यह पुरस्कार मिला था। इससे पहले 2016 में बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु, जिमनास्ट दीपा कर्माकर, रेसलर साक्षी मलिक और शूटर जीतू राय को दिया गया था।

कोरोना के कारण राष्ट्रीय खेल पुरस्कार समारोह नहीं होगा

कोरोना के कारण पहली बार राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 29 अगस्त को वर्चुअल तरीके से दिए जाएंगे। हर साल 29 अगस्त यानी नेशनल स्पोर्ट्स-डे के मौके पर राष्ट्रपति भवन में एक कार्यक्रम के जरिए यह पुरस्कार दिए जाते हैं।

कमेटी के सदस्यों में वीरेंद्र सहवाग भी

विजेताओं के सेलेक्शन के लिए खेल मंत्रालय ने 12 मेंबर्स की कमेटी बनाई थी। इसकी अगुआई सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस मुकुंदकम शर्मा ने की। कमेटी के सदस्य पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, पूर्व हॉकी प्लेयर सरदार सिंह, पैरालिंपिक रजत पदक विजेता दीपा मलिक, पूर्व टेबल-टेनिस खिलाड़ी मोनालिसा बरुआ मेहता, बॉक्सर वेंकटेशन देवराजन के अलावा पत्रकार आलोक सिन्हा और नीरू भाटिया थे।

खेल रत्न पाने वाले को अब 25 लाख रुपए मिलेंगे
खेल रत्न भारत का सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर इसका नाम रखा गया है। हर साल देश के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को यह दिया जाता है। अब तक पुरस्कार के साथ खिलाड़ी को 7.5 लाख रुपए और एक प्रतिमा दी जाती थी। लेकिन अब खेल रत्न पुरस्कार पाने वाले को 25 लाख रुपए मिलेंगे। इसमें 300 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी की गई है।

अर्जुन अवॉर्ड हासिल करने वाले को 5 की जगह 15 लाख, द्रोणाचार्य अवॉर्डी को 5 की बजाय 10 लाख और मेजर ध्यानचंद लाइफटाइम अवॉर्ड पुरस्कार पाने वाले को 5 की जगह 15 लाख रुपए दिए जाएंगे। इसका पूरा मसौदा तैयार कर लिया है। 29 अगस्त यानी खेल दिवस के दिन इसकी घोषणा की जाएगी। पिछले साल पैरालिंपियन दीपा मलिक और पहलवान बजरंग पूनिया को यह पुरस्कार मिला था।

कोचिंग में योगदान के लिए द्रोणाचार्य पुरस्कार

खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड खिलाड़ियों को दिए जाते हैं, जबकि द्रोणाचार्य पुरस्कार कोचिंग के क्षेत्र में योगदान के लिए दिया जाता है। इसके अलावा ध्यान चंद पुरस्कार खिलाड़ियों को लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए मिलता है। इस साल के अर्जुन अवॉर्ड और खेल रत्न जनवरी 2016 से दिसंबर 2019 तक के प्रदर्शन के आधार पर दिया गया है।

डोपिंग में फंसे खिलाड़ी आवेदन नहीं कर सकते

ऐसे खिलाड़ी राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए आवेदन नहीं भेज सकते हैं, जिन्हें नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी यानी नाडा ने डोपिंग का दोषी पाया हो या उनके खिलाफ जांच चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 + twenty =