ला मार्टिनयर फॉर ब्वायज में गूँजी देशभक्ति की धुन

0
33

हिन्दी ज्योत्सना क्लब द्वारा आयोजित इंटर स्कूल देशभक्ति मीट में शामिल हुए 26 स्कूल

कोलकाता : ला मार्टिनियर फ़ॉर ब्वायज के हिन्दी ज्योत्सना क्लब द्वारा आयोजित इंटर स्कूल देशभक्ति मीट, 2021 का आयोजन हाल ही में यू ट्यूब पर किया गया। यह हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को मनाने, राष्ट्रवादी गौरव को आत्मसात करने और हिंदी भाषा के उपयोग को लोकप्रिय बनाने के लिए हर साल करवाया जाता है। अन्तरविद्यालय मिडिल स्कूल हिन्दी वाद – विवाद प्रतियोगिता का आयोजन गत 12 अगस्त को गया था। कुल 26 स्कूलों ने इस आयोजन में हिस्सा लिया। इस वर्ष शहर के बाहर और यहाँ तक कि राज्य के बाहर के कई स्कूलों जैसे फ्रैंक एंथोनी पब्लिक स्कूल, नयी दिल्ली, सोफिया गर्ल्स स्कूल, मेरठ और सम्मानित वेल्हम गर्ल्स स्कूल, देहरादून शामिल थे, और कई अन्य स्कूल जैसे- राजस्थान विद्या मंदिर, लोरेटो स्कूल, मॉडर्न हाई स्कूल, लोरेटो कॉन्वेंट एंटाली, श्री शिक्षायतन, डॉनबॉस्को स्कूल, बंडेल, जूलियन डे स्कूल हावड़ा, सैफी हाई स्कूल, बी डी एम इंटरनेशनल स्कूल, सनशाइन स्कूल, वीरपाड़ा,  बिड़ला हाई स्कूल, ला मार्टिनियर फॉर गर्ल्स, सिल्वर प्वाइंट स्कूल, सैफी हॉल, सेंट जेम्स स्कूल, एम पी बिड़ला फ़ाउंडेशन हायर सेकंडेरी स्कूल, लोरेटो स्कूल धर्मतल्ला, दिल्ली पब्लिक स्कूल रुबी पार्क , वेलेंड गोल्डस्मिथ स्कूल पाटुली, द कलकत्ता एम्मनुएल स्कूल पश्चिम बंगाल, और आर्मी पब्लिक स्कूल बालीगंज।
वाद विवाद प्रतियोगिता दो चरणों में आयोजित करवायी गयी। पहले चरण के लिए स्कूलों को ग्रुप ए और ग्रुप बी में बांटा गया था। वर्गीकरण 30 जुलाई को सभी को एक साथ लाकर ऑनलाइन बैठक में किया गया। अंतिम चरण के लिए 12 स्कूल चुने गये। प्रतिभागियों ने प्रस्ताव पर बहस की “एक सभ्य समाज में मृत्युदंड का स्थान नहीं है।” हार्दिक अग्रवाल (डीपीएस रूबी पार्क से) को मोशन के लिए सर्वश्रेष्ठ वक्ता और आरव तिवारी (डॉन बॉस्को स्कूल, बंडेल से) को मोशन अवॉर्ड के लिए उपविजेता वक्ता का खिताब मिला ।
दूसरी ओर, लड़कियों के लिए ला मार्टिनियर से दिव्यांशा जैन ने प्रस्ताव के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ वक्ता और एम पी बिड़ला फाउंडेशन हायर सेकेंडरी स्कूल के राजदीप घोष ने प्रस्ताव के खिलाफ उपविजेता का पुरस्कार जीता । अंत में डीपीएस रूबी पार्क विजेता के रूप में उभरा और ला मार्टिनियर फ़ॉर गर्ल्स को उपविजेता चुना गया ।
निर्णायकों में कई वरिष्ठ दिग्गज शामिल थे। ग्रुप ए का निर्णय हर्षित चोखानी, विनय कुमार ओझा और डॉक्टर उमेश कुमार सिंह ने किया। ग्रुप बी के लिए हमारे पास प्रोफ़ेसर कम्मू खटिक, डॉ. निरुपमा पांडेय और श्री अशोक शर्मा थे ।
फाइनल राउंड में अंजू के पॉल, विशाल सिंह, डॉक्टर विवेकमणि त्रिपाठी, डॉक्टर सत्यप्रकाश तिवारी और डॉक्टर मीनू भटनागर की पांच निर्णायक शामिल थे। डॉक्टर विवेकमणि त्रिपाठी गुआंगदोंग यूनिवर्सिटी ऑफ फॉरेन स्टडीज में इंडो-चाइनीज स्टडीज के प्रोफेसर हैं।
तीनों चरणों में हिन्दी ज्योत्सना क्लब के संस्थापक बलवंत सिंह,  डोयल रे और चंदन कुमार ने संचालन किया जबकि समय नियामक का दायित्व शशांक सिंह, सैम आनंद, शिवंक जैन और ऋषित सोनी ने सम्भाला। ला मार्टिनियर फ़ॉर बॉयज के वरिष्ठ शिक्षकों और अन्य हाउस मास्टर्स ने प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दीं ।
मिडिल स्कूल के प्रमुख सिडनी मेनेज़ेस ने छात्रों को संबोधित करते हुए उन्हें “स्वतंत्र रूप से अपने विचार व्यक्त करने” को कहा और “हमारे दैनिक जीवन में हिंदी के महत्व” के बारे में बताया। ला मार्टिनियर कलकत्ता के सचिव सुप्रियो धर ने कहा, “हमें ऐसे आयोजनों की और अधिक जरूरत है ताकि छात्रों को स्वतंत्र रूप से खुद को अभिव्यक्त करने का अवसर मिले ।”अंतिम दौर कार्यवाहक प्राचार्य पी ए जॉन स्टीफन के भाषण के साथ समाप्त हुआ जो और उन्होंने सभी प्रतिभागियों को कहा, “भाग लेना ही अपने में जीत के बराबर है।” 75 स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए 15 अगस्त, 2021 को देशभक्ति मिलन समारोह का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम का समापन कार्यवाहक प्रधानाचार्य के भाषण और बलवंत सिंह के धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 + five =