वसंतोत्सव और गणतंत्र दिवस पर स्वाद की बहार

0
5

वसंत पंचमी पर बनाएं

1. मीठा चावल

बसंत पंचमी पर आप मीठा चावल बना सकते हैं। इस चावल की खास बात यह है कि इसमें केसर और गुड़ का इस्तेमाल होता है जो कि इसे एक केसरिया रंग देता है। इसे बनाने के लिए पहले चावल को सीटी लगा लें। फिर एक कढ़ाई में गुड़, पानी और केसर डाल कर मीठा घोल तैयार करें। फिर इसमें ये चावल मिला लें।

2. केसर खीर

केसरिया खीर बसंत पंचमी पर कई जगह खाई जाती है। इसमें केरस डाल कर मखाना, चावल और ड्राई फ्रूट्स से खीर तैयार की जाती है। ये खीर पीले रंग की होती है और इसे आप पूजा के भोग में भी चढ़ा सकते हैं।

3. मालपुआ

मालपुआ, आटा, केसर, सूजी, मैदा, ड्राई फ्रूट्स और केला को मिला कर बनाया जाता है। इसमें आप गुड़ या चीनी दोनों में से किसी भी चीज का इस्तेमाल कर सकते हैं। बस, ध्यान रखें कि इसमें हाई कैलोरी होती है जो कि शरीर को कई प्रकार से एनर्जी देने में मददगार है।

4. रवा केसरी

रवा केसरी, सूजी, चीनी, घी, ड्राई फ्रूट्स और चुटकी भर केसर से बनती है। ये एक प्रकार का हलवा ही है। इसे आप भोग में भी इस्तेमाल कर सकते हैं और घर में बना कर भी खा सकते हैं। ये खाने में जितना टेस्टी होता है, उतना ही शरीर के लिए फायदेमंद भी है। तो, इस बंसत पंचमी आप इन 4 रेसिपी ट्राई कर सकते हैं।

गणतंत्र दिवस पर बनाएं

तिरंगा सैंडविच

सबसे पहले पैन में तेल गरम करें और फिर इसमें कद्दूकस की हुई गाजर और नमक डालकर दो मिनट तक पकाकर अलग रख दें।अब दूसरे पैन में मक्खन गरम करके उसमें उबला आलू मैश करके नमक डालकर पकाएं।अब ब्रेड की एक स्लाइज पर हरी चटनी लगाकर उसमें खीरा की स्लाइज रखकर ब्रेड से ढक दें। अब फिर इसके ऊपर आलू वाला मिश्रण लगाएं और फिर से ब्रेड रखकर गाजर वाला मिश्रण लगाकर ब्रेड की स्लाइस से ढक दें।

तिरंगा पोहा

सबसे पहले पोहा को पानी में धोकर अलग रख लें।अब एक पैन में गरम तेल में हींग, जीरा, राई, करी पत्ता, प्याज और हरी मिर्च डालें।अब इसमें पोहा, नमक, नींबू का रस और मूंगफली डालें। पकने के बाद इसे तीन भाग में बांटे।एक भाग में थोड़ा सा हरा रंग और दूसरे भाग में थोड़ा सा केसरिया रंग डालकर अलग-अलग थोड़ा और पकाएं।अब प्लेट में तीनों रंग के पोहा की लेयरिंग करके सर्व करें।

तिरंगा लस्सी

सबसे पहले दही में चीनी और इलायची पाउडर डालकर अच्छे से फेंट लें और इसे अलग रख दें।अब केसरिया रंग के लिए केसर के शरबत को अलग दही और चीनी के साथ ब्लेंड करें। इसके बाद हरे रंग के लिए खस शरबत को दही और चीनी के साथ ब्लेंड करें।अब एक गिलास में पहले खस वाली दही और फिर सफेद दही और अंत में केसरिया रंग वाली दही को डालें। इसके ऊपर कटे पिस्ता डालकर सर्व करें।

Previous articleगणतंत्र दिवस विशेष – जानिए अब तक संविधान में संशोधनों की गाथा
Next articleगणतंत्र दिवस विशेष – शहीदों को शत शत नमन
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × five =