शिक्षा हमें स्वालंबी और स्वाभिमानी बनाती है : प्रो.दामोदर मिश्र

0
23
मिदनापुर । विद्यासागर विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग की ओर से शिक्षक दिवस के अवसर पर ‘शिक्षा का महत्व’ विषय पर आयोजित विभागीय संगोष्ठी में अध्यक्षीय वक्तव्य देते हुए हिंदी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो.दामोदर मिश्र ने कहा शिक्षा हमें ज्ञानी और निर्भय बनाती है। विद्या एकल साधना है और इस साधना का कोई अन्य विकल्प इस धरा पर नहीं है।विद्या तभी सफल होती है जब हम वह हमारे व्यवहार, संस्कार और संस्कृति का हिस्सा बनती है।शिक्षा हमें स्वालंबी बनाने के साथ स्वाभिमानी बनाती है।उन्होंने मावत्से का उल्लेख करते हुए कहा कि शिक्षा के जरिए हम उस ऊंचाई तक पहुंच सकते हैं,जहां राजनीति और व्यवस्था नहीं पहुंच सकती। विभागाध्यक्ष डॉ प्रमोद कुमार ने अपने संदेश में कहा कि शिक्षा का संबंध एक सुंदर समाज के निर्माण से है।इस अवसर पर सहायक प्रोफेसर डॉ संजय जायसवाल ने कहा एक शिक्षक अपने विधार्थियों के भीतर ज्ञान, संवेदना,कर्म और मनुष्यता का बीज बोता है। समकालीन परिदृश्य में शिक्षा को सफलता से जोड़ कर देखा जाता है जबकि शिक्षा कर्म के बिना अधूरा है। शिक्षा कर्म को नैतिकता से जोड़कर मनुष्यता को बचाते हुए जीवन को सार्थक बनाती है।डॉ श्रीकांत द्विवेदी ने कहा कि शिक्षा का संबंध व्यक्तित्व के विकास के साथ समाज के निर्माण से है।
इस अवसर पर विभाग की शोधार्थी उष्मिता गौड़ा, सोनम सिंह, रूपेश यादव, रिया श्रीवास्तव, टीना परवीन, सुषमा कुमारी ,एलुमनी अन्नू तिवारी तथा स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थी श्रेया सरकार,,नाजिया सनवर,निशा कुमारी, प्रिंशु कुमारी, पूजा कुमारी,,प्रिया कुंभकर,संगीता बिंद,मुस्कान अग्रवाल, सत्यम पटेल,कलाम कुरैशी, फिजां खातून,राया सरकार आदि ने आयोजन में विशेष सहयोग दिया।कार्यक्रम का सफल संचालन नेहा शर्मा ने किया।
Previous articleविश्व हितैषी स्वामी विवेकानन्द
Next articleउच्च शिक्षा के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती है राजनीतिक हस्तक्षेप
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × two =