शुभजिता दुर्गोत्सव 2022 – नेत्रहीनों, दिव्यांगों एवं वृद्धों के अनुकूल दुर्गा पूजा मंडप होंगे पुरस्कृत

0
18

एनआईपी के ब्रेल डिस्प्ले स्टैंड की पहल पर साथ आईं तीन पूजा कमेटियां

 कोविड सेफ दुर्गोत्सव अवार्ड 2022″ की घोषणा

कोलकाता ।  एनआईपी एनजीओ – नेत्रहीन और अन्य दिव्यांगों में शिक्षा और उनमें सांस्कृति के प्रसार करनेवाली स्वयंसेवी संस्था है। इस संस्था के सदस्यों के साथ फोरम फॉर दुर्गोत्सव, सैनी इंटरनेशनल स्कूल, ममता सुमित बिनानी फाउंडेशन और रोटरी क्लब ऑफ कोलकाता ओल्ड सिटी के सहयोग से शहर के पूजा कमेटियों के लिए प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में ऐसी कुल 250 पूजा कमेटियां भाग ले रही है, जो वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांगों के लिए अपने पंडालों में प्रतिमा दर्शन को अनुकूल बनाने का प्रयास कर रही हैं। इस कार्यक्रम के दौरान शहर के तीन पूजा पंडालों में नेत्रहीनों की सुविधा के लिए ब्रेल डिस्प्ले स्टैंड को लगाकर इन तीनों मंडप में इसे लगाने की घोषणा की गई है, जिनमे हाजरा पार्क दुर्गोत्सव समिति, एस बी पार्क और चितपुर क्रॉसिंग के पास स्थित यंग बॉयज़ क्लब दुर्गापूजा मंडप शामिल हैं।
इस अवसर पर राज्य के कृषि मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय, हाजरा पार्क दुर्गोत्सव समिति के संयुक्त सचिव सायन देब चटर्जी , सीएस, डॉ. और एडवोकेट ममता बिनानी (एनआईपी एनजीओ की मुख्य संरक्षक और अध्यक्ष, एमएसएमई डेवलपमेंट फोरम, पश्चिम बंगाल), श्री सैनी ग्रुप के सीईओ तपन पटनायक, रोटरी क्लब ऑफ कलकत्ता ओल्ड सिटी के पूर्व अध्यक्ष श्री कल्याण भौमिक, श्री संजय मजूमदार (फोरम फॉर दुर्गोत्सव), देबज्योति रॉय (सचिव, एनआईपी एनजीओ) के साथ समाज की कई बड़ी प्रतिष्ठित हस्तियां मौजूद थीं।

इस मौके पर संवाददाताओं से बात करते हुए सीएस, डॉ. और एडवोकेट ममता बिनानी (एनआईपी एनजीओ की मुख्य संरक्षक और अध्यक्ष, एमएसएमई डेवलपमेंट फोरम, पश्चिम बंगाल) ने कहा, दिव्यांगता किसी व्यक्ति की विशेषता नहीं है, बल्कि उसकी शारीरिक परिस्थितियों का एक जटिल संग्रह है। जब ऐसे विशेष लोगों के लिए किसी मंडप में विशेष सुविधा की व्यवस्था हो और इसके जरिए दिव्यांगों को पंडाल में प्रवेश करने और वहां प्रतिमा दर्शन करने के लिए पहुंचने के लिए लंबी कतारों में खड़े होने की आवश्यकता न हो, तो सच में उन मंडप में नेत्रहीन और दिव्यांग दर्शक आकर इस उत्सव पर विशेष आनंद का अनुभव करेंगे। हमें इनके लिए बस थोड़ा सा बदलाव करने पर समाज में अलग-अलग क्षमताओं वाले दिव्यांगों के लिए अपनेपन और आनंद की भावना के साथ त्योहार मनाने की एक अलग अनुभूति होती है। कई पूजा समितियों को इस दिशा में प्रयास करते हुए देखकर हम काफी उत्साहित हैं। हमारी पूरी आशा है कि अन्य कमेटियां भी जल्द ही इसका पालन करेंगी।

कार्यक्रम के बारे में हाजरा पार्क दुर्गोत्सव समिति के संयुक्त सचिव सायनदेव चटर्जी ने कहा, उत्सव के इस मौसम की शुरुआत में जहां हर कोई बेदाग मूड के साथ रहना चाहता है, हमने मानवता के लिए एक अनूठी लड़ाई का समर्थन करने के साथ अपने आप को इसमें समर्पित करने का फैसला किया है। हमारा मानना है कि जब ऐसे विशेष लोगों के दैनिक जीवन की गतिविधियों के लिए, ब्रेल घड़ी, ब्रेल कैलकुलेटर, ब्रेल थर्मामीटर, आदि को दृष्टिहीनों की सुविधा के लिए विकसित किया गया है तो हम इन नेत्रहीनों को खुशियां प्रदान करने की कोशिश क्यों नहीं कर सकते हैं। यह सोचकर ही हमने इस वर्ष पूजा में ब्रेल डिस्प्ले स्टैंड के साथ इस उत्सव को मनाने का फैसला लिया है। यह केवल एक पुरस्कार समारोह या लॉन्च नहीं है, बल्कि, यह एक बेहतर समाज को बनाने के लिए सौहार्दपूर्ण वादे के साथ एक सुखद यात्रा का अनुभव भी है।

इस अवसर पर सैनी ग्रुप के सीईओ तपन पटनायक ने कहा, दुर्गा पूजा पश्चिम बंगाल का सबसे बड़ा त्योहार है। पश्चिम बंगाल के लोग इस पर्व का बड़े ही धूमधाम से आनंद लेते हैं। लेकिन इस बीच लोग समाज के इस दूसरे हिस्से के लोगों को भूल जाते हैं, जो अलग तरह से असक्षम हैं और वरिष्ठ नागरिक भी हैं। उनके नि:शुल्क प्रवेश के लिए अब हर पूजा पंडालों में कुछ अलग व्यवस्था हमे करनी होगी। हम इस राज्य के हर पूजा समितियों से इस मिशन का पूरे दिल से समर्थन करने का अनुरोध करते हैं। गौरतलब है कि एनआईपी एनजीओ – नेत्रहीनों और अन्य विकलांगों को शिक्षा प्रदान करने के साथ उनमें हमारी सांस्कृतिक को भी बढ़ावा देना है। एनआईपी को 3 दिसंबर, 2012 को “स्टेट अवार्ड” से सम्मानित किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 3 =