सावधान, दोस्ती वाला फोन खाली करवा सकता है आपका बैंक अकाउंट

0
58
बबीता माली

यह खबर आपको सजग करने के लिए है, अपराध के लक्षणों को पहचानिए..अपराध पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाने वाली वरिष्ठ पत्रकार बबीता माली घटनाओं का उल्लेख करते हुए बता रही हैं कि आप किस प्रकार की सावधानी रख सकते हैं। ऐसे अलग – अलग जरूरी मुद्दों पर खबरें आती रहेंगी – 

कोलकाता : बैंक अधिकारी बनकर बैंक का ब्योरा लेकर तो कभी ओटीपी हासिल कर ठगी करने वाले गिरोह काफी सक्रिय हैं। मगर, इन सब के बीच एक और गिरोह इन दिनों काफी सक्रिय हुआ है, वो गिरोह है फ्रेंडशिप के नाम पर ठगी करने वाला। आजकल लोगों के अकेलेपन का फायदा उठाकर फ्रेंडशिप के नाम पर ठगी करने वाले ऐसे ही एक गिरोह का बंगाल के बैरकपुर कमिश्नरेट के अंतर्गत बरानगर थाने की पुलिस ने भंडाफोड़ किया और दो युवती सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक आरोपी अमृतेश कुमार मूल रूप से बिहार के वैशाली जिले का रहने वाला है। यहां वो दमदम के सुभाष नगर इलाके में किराए के मकान में रहता है। बैरकपुर कमिश्नरेट के डीसी (साउथ) अजय प्रसाद ने बताया, 18 जून की शाम बरानगर थाने के एसआई देबनाथ घोषाल और उसकी पीसी टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर बरानगर थाने इलाके में एक किराए के मकान में अभियान चलाया और फ्रेंडशिप के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया। उन्होंने बताया, इस गिरोह पर दूसरे राज्यों में ऑनलाइन फ्रॉड के कई मामले दर्ज है। फिलहाल, इनके कब्जे से 37 मोबाइल, 7 क्रेडिट और डेबिट कार्ड, 88 हजार रुपए और दो नोटबुक बरामद की गयी है।

फोन कर लोगों को फांसते थे
पुलिस ने बताया, जाँच में पता चला ये गिरोह लोगों को फोन कर उन्हें दोस्ती करवाने का झांसा देते थे। इसके बाद उनसे विभिन्न प्रकार के सेवाओं के नाम पर रुपए ऐंठते थे। सिर्फ दोस्ती ही नहीं बल्कि नौकरी दिलाने के नाम पर भी ये गिरोह ठगी करते थे।

फोन पर क्या बोलना है इसके लिए स्क्रिप्ट भी रहती थी तैयार
पुलिस ने बताया, आरोपियों के कब्जे से एक स्क्रिप्ट भी मिली है। पुरुषों को फांसने के लिए युवतियां फोन करती थी। उन्हें पुरुषों से कैसे और क्या बातें करनी हैं, उसका पूरा ब्योरा एक कागज में लिखकर दिया जाता था। उदाहरण के तौर पर, ये युवतियां फोन कर कहती थी, मैं फ्रेंडशिप डेटिंग सर्विस कंपनी से बोल रही हूँ। कभी बंगलुरु तो कभी अन्य राज्यों का नाम लेती थी और कहती थी कि वो उस राज्य और शहर से बोल रही हैं। इसके बाद अपनी कंपनी के सर्विसेज के बारे में बताया करती थी। इसके बाद जो उनके झांसे में आ जाता उससे पहले कंपनी की सदस्यता  के नाम पर 2500 रुपए लिए जाते थे। इसकी मियाद 3 महीने तक की बताते थे और फिर कुछ ना कुछ बहाना बनाकर रुपए ऐंठते रहते थे लेकिन किसी को कोई सर्विस यानी सेवा नहीं मिलती थी।
डेटिंग से लेकर शारीरिक सम्बन्ध, 3 तरह की सेवाएं देने का देते थे झांसा
पुलिस ने बताया, जांच में पता चला ये गिरोह तीन तरह की सर्विस देने का झांसा देते थे। डेटिंग से लेकर शारीरिक सम्बन्ध, तक का भी वादा करते थे। दरअसल, जब ये अपने ग्राहक को ऑफर देते थे तो कहते थे कि उन्हें तीन तरह की सर्विस मिलेगी। पहली डेटिंग, दूसरी चैटिंग और तीसरी सर्विस फिजिकल रिलेशनशिप की मिलेगी। सभी सर्विस के लिए हाई प्रोफाइल महिलाएं ही मिलेगी। उनके लुभावने ऑफर में आकर कईयों के बैंक अकाउंट तक खाली हो जाते थे। इस मामले में कई लोगों ने ठगी का शिकार होने पर पुलिस से संपर्क किया और शिकायत की। शिकायत मिलने के बाद पुलिस कार्रवाई कर इस गिरोह का पर्दाफाश करने में सफल हुई। फिलहाल, पुलिस मामले की जांच कर रही है।

इन बातोंं का रखें ध्यान 

* किसी भी तरह के लुभावने फोन कॉल से रहे दूर
* फ्रेंडशिप हो या डेटिंग साइट, इन्वेस्ट यानी निवेश से पहले रहे सावधान
* फ्रेंडशिप के नाम पर पैसे मांगने वाली साइटों से रहे सावधान
* अगर किसी को कोई परेशानी हो तो सीधे पुलिस से शिकायत करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × two =