सावन के रिमझिम गीतों की प्रतियोगिता में भवानीपुर कॉलेज की जाह्नवी प्रथम

0
274

कोलकाता : मानसून की बारिश का मौसम आते ही युवाओं के हृदय में तो गीत संगीत की लहरें हिलोरें लेने लगती हैं, बच्चे, बूढ़े, स्त्री-पुरुष सभी प्रकृति की हरियाली और बारिश की बूंदों के साथ आनंदित हो उठते हैं। ऐसे समय में भवानीपुर कॉलेज के क्रिसेंडो टीम के संगीत प्रेमियों को भला कौन रोक सकता है? इस इवेंट का संयोजन और संचालन में विक्रम जित दास, सम्राट घोष और अनुराग सेन गुप्ता अग्रणी रहे। कोरोना काल में घरों में रहकर कॉलेज के क्रिसेंडो टीम ने अॉन-लाइन सावन के रिमझिम गीतों की प्रतियोगिता का आयोजन किया। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी कार्यक्रम की परिकल्पना कॉलेज के डीन प्रो. दिलीप शाह की रही।प्रो. शाह ने बताया कि इस तरह के कार्यक्रम करने का उद्देश्य है प्रतिभाशाली संगीत प्रतिभाओं को सामने लाना। प्रथम चरण में इस प्रतियोगिता में नब्बे विद्यार्थियों का अॉडिशन हुआ जिसमें दस विद्यार्थियों का फाइनल राउंड में चयन हुआ।दूसरे चरण में टॉप टेन प्रतिभागियों में अभिषेक पॉल, अर्कप्रभा चटर्जी, हृदिमन दास, जाह्नवी अग्रहरि, मधुबन दास, मौ. अरिफ रजा, नंदराज अमृत, संदीप प्रधान, श्रिनजीनी भादुड़ी और सूरज लामा चयनित हुए । निर्णायक मंडल में संगीतकार श्री सौरभ गोस्वामी और म्युजिक डायरेक्टर- कम्पोजर श्री व्रत देव रहे जिनके स्टुडियो में उमंग के टाइटल सांग का निर्माण किया गया था।जूम पर हुए फाइनल राउंड में 76 विद्यार्थियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की
। बरसात के प्रसिद्ध गीतों में “ये मौसम की बारिश”, “टापुर टूपूर” ,” रिमझिम घिरे सावन” , “भीगी भीगी रातों में” , “आओगे जब तुम ओ साजना अंगना फूल खिलेंगे” आदि गीतों ने सभी का मन मोह लिया। निर्णायक सौरभ गोस्वामी ने मेघ मल्हार से कार्यक्रम का शुभारंभ किया। अंजलि दूबे ने अपने मोहक गीत से सभी को मोहित कर दिया।
प्रो.दिलीप शाह, प्रो. मीनाक्षी चतुर्वेदी, दिव्या उडीसी ने विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन किया। डॉ. वसुंधरा मिश्र ने विद्यार्थियों और शिक्षकों के अनुरोध पर “प्रिय तुम तो सावन के प्रभात, मैं बदली सी मिलने आई” गीत की प्रस्तुति दी। टीम एक्सप्रेशन की प्रीति जैन ने रिपोर्ट तैयार की।
भवानीपुर कॉलेज मंच प्रदान कर युवा संगीतकारों को अपनी कला का प्रदर्शन करने का अवसर देने के लिए प्रोत्साहित करता रहा है। इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर जाह्नवी अग्रहरि द्वितीय स्थान पर मधुबन दास और तृतीय स्थान पर दो विद्यार्थी अभिषेक पॉल और श्रिनजिनी भादुड़ी रहे।अंत में, धन्यवाद ज्ञापन प्रो. दिलीप शाह ने दिया। सभी विजेताओं और प्रतिभागियों को सर्टिफिकेट प्रदान किए जाएंगे । इस कार्यक्रम की जानकारी दी डॉ. वसुंधरा मिश्र ने।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 4 =