सिग्नल ने व्हाट्सऐप को छोड़ा पीछे, बना भारत का मुफ्त शीर्ष ऐप

0
95

नयी दिल्ली : कुछ दिनों पहले तक भारत में मैसेजिंग ऐप सिग्नल इस्तेमाल करने वाले काफी कम यूजर्स हुआ करते थे। लेकिन व्हाट्सऐप की नयी निजता नीति यानि प्राइवेसी पॉलिसी के आने से सिग्नल मैसेजिंग ऐप को जमकर डाउनलोड किया जा रहा है। ऐसे में सिग्नल ऐप ऐपल ऐप स्टोर पर व्हाट्सऐप को पीछे छोड़कर टॉप फ्री ऐप बन गया है। सिग्नल ऐप ने भारत, जर्मनी, फ्रांस, आस्ट्रिया, फिनलैंड, हांगकांग और स्विट्जरलैंड में व्हाट्सऐप को पीछे छोड़ शीर्ष स्थान हासिल कर लिया है। इसके अलावा, जर्मनी और हंगरी में Signal गूगल प्ले स्टोर में भी टॉप फ्री ऐप्स बन गया है। एक वक्त तो आलम यह था कि ऐप डाउनलोडिंग में भारी भीड़ के चलते सिग्नल ऐप के ओटीपी वेरिफिकेशन में देरी हो रही थी। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट में सेंसर टॉवर के डेटा के हवाले से लिखा गया है कि सिग्नल ऐप को पिछले दो दिन में एंड्राइड और iOS डिवाइसेज में 100,000 से भी ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है. साथ ही 2021 के पहले हफ्ते में व्हाट्सऐप के नए इंस्टॉलेशन में 11 प्रतिशत की गिरावट आई है। सिग्नल ऐप यूजर्स को मैसेज भेजने, ऑडियो और विडियो कॉल्स करने, फोटोज, विडियोज और लिंक शेयर करने की सहूलियत देता है। ऐप का दावा है कि उसकी तरफ से यूजर डेटा का ना के बराबर इस्तेमाल किया जाता है। यह यूजर्स के असुरक्षित बैकअप को क्लाउड पर भी नहीं भेजता और यह एनक्रिप्टेड डाटाबेस को आपके फोन में ही सिक्योर रखता है। साथ ही ऐप की सिक्योरिटी को अपने हिसाब से तय करने का विकल्प दिया गया है। सिग्नल दिसंबर 2020 में ग्रुप विडियो कॉलिंग का ऑप्शन भी लेकर आया है। टेस्ला कंपनी के सीईओ एलन मास्ट के एक टवीट् ने सिग्नल ऐप की लोकप्रियता को अचानक बढ़ा दिया। मस्क ने ट्वीट किया कि वो सिग्नल ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके बाद से सिग्नल ऐप की डाउनलोडिंग की रफ्तार अचानक बढ़ गई। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा कि ‘यूज सिग्नल. मस्क के इस ट्वीट को ट्विटर के सीईओ जैक डॉर्सी ने भी रीट्वीट किया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × four =