सुनामी से तबाह जंगलों की लकड़ी से बना 5 मंजिला स्टेडियम, बैठेंगे 60 हजार दर्शक 

0
101

टोक्यो ओलिंपिक-2020 का स्टेडियम बनकर तैयार, इसमें 87% लकड़ी का इस्तेमाल हुआ है
47 प्रांतों के जंगलों की 2 हजार घन मीटर देवदार की लकड़ी इस्तेमाल हुई, 10 हजार करोड़ रुपये लागत आई
स्टेडियम में दर्शकों को गर्मी से बचाने 185 बड़े पंखे और 8 स्थानों पर कूलिंग नोजल भी लगाए गए हैं
टोक्यो : जापान में अगले साल होने वाले टोक्यो ओलिंपिक का मुख्य स्टेडियम बनकर तैयार हो गया है। इसमें 87% लकड़ी का इस्तेमाल हुआ है। यानी 2000 घन मीटर देवदार की लकड़ी इस्तेमाल की गई है। यह लकड़ी जापान के उन 47 प्रांत के जंगलों से लाई गई, जो 2011 में आई सुनामी से तबाह हो गए थे।
इसका मकसद है- दर्शक प्रकृति से जुड़े रहें और उन्हें गर्मी न लगे। इसके लिए यहां 185 बड़े पंखे और 8 स्थानों पर कूलिंग नोजल भी लगाए गए हैं। 5 मंजिला मुख्य स्टेडियम करीब 10 हजार करोड़ रु. की लागत से तैयार हुआ है। यहां 60 हजार दर्शक बैठ सकेंगे।
एक जनवरी को खेला जाएगा पहला टूर्नामेंट
यहां पहला टूर्नामेंट अगले साल 1 जनवरी को एंपरोर फुटबॉल कप का फाइनल खेला जाएगा। टोक्यो ओलंपिक 24 जुलाई से 9 अगस्त तक होगा। इसके अलावा 25 अगस्त से 6 सितंबर तक पैरालिंपिक होंगे। स्टेडियम का डिजाइन जापान के आर्किटेक्ट केंगो कुमा ने तैयार किया है।
ई-वेस्ट से बने 5000 मेडल दिए जाएंगे
ओलिंपिक के 60% वेन्यू रियूज्ड और रिसाइकल चीजों से बन रहे हैं। स्टेडियम की सभी लाइटें सोलर एनर्जी से चलेंगी। ओलिंपिक में ई-वेस्ट से बने 5000 मेडल दिए जाएंगे। ई-वेस्ट के लिए लोगों ने 80 हजार यूज्ड मोबाइल फोन, स्मार्टफोन और टैबलेट दिए। वहीं पहली बार ड्राइवरलेस टैक्सी का इस्तेमाल होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − 10 =