हिंदी मेला समाज को जोड़ने का संदेश देता है तोड़ने का नहीं

0
166

कोलकाता । भारत की एक महान सांस्कृतिक विरासत है जो अशोक, बुद्ब, कबीर, चैतन्य महाप्रभु, विद्यासागर, बंकिम चंद्र और रवींद्रनाथ तक विस्तृत है। बंग भूमि में आयोजित यह हिंदी मेला समाज को जोड़ने का संदेश देता है तोड़ने का नहीं। हिंदी मेला के नौजवान गांधी के आदर्शों को आगे बढ़ाए जो सत्य और अहिंसा पर आधारित है। यह बातें कही हरिजन सेवक संघ वे राष्ट्रीय अध्यक्ष और जानेमाने गांधीवादी चिंतक शंकर कुमार सान्याल ने। आज हिंदी मेला में काव्य नृत्य, काव्य संगीत और लोकगीत का कार्यक्रम आयोजित था जिसका दर्शकों ने भरपूर आनंद लिया। आज के आयोजन में विभिन्न भारतीय भाषाओं का सांस्कृतिक संगम देखने को मिला। प्रो. सुनंदा रॉय चौधरी ने कहा कि हिंदी मेला कोलकाता के हिंदी विद्यार्थियों और नौजवानों का सबसे महोत्सव है। महेश जायसवाल ने कहा कि हिंदी मेला लंबे समय से हिंदी और बांग्ला के बीच एक महत्वपूर्ण पुल का काम कर रहा है। इस अवसर पर नृत्यांगना चंद्रिमा मंडल और नृत्य शिक्षक सौरभ चटर्जी ने अपना वक्तव्य रखा। भारतीय भाषा परिषद के निदेशक डॉ. शम्भुनाथ ने कहा कि हिंदी मेला ने हिंदी परिवार के बच्चों के बीच नृत्य और संगीत को लोकप्रिय बनाने का काम किया है। आज भी कई हिंदी घरों में नृत्य, संगीत और गान करने को अच्छी नजरों से नहीं देखा जाता और जीवन में कलाओं को प्रवेश नहीं मिला है। काव्यसंगीत और लोकगीत के निर्णायक में रितेश कुमार, ममता त्रिवेदी और सुनंदा रॉय चौधरी उपस्थित थे। काव्य नृत्य एकल का शिखर सम्मान शालिनी सिन्हा, लेडी ब्रेबॉन कॉलेज, प्रथम स्थान जेशमी घोष, सेंट ल्युक्स डे स्कूल, द्वितीय स्थान सागनिका दे, आदित्य अकादमी, तृतीय स्थान भूमिजा चंद्रा, बिहानी एकेडमी, प्रथम विशेष ईशिका महतो, स्टडी मिशन स्कूल, द्वितीय विशेष नीलिमा गिरी, श्रीरामपुर कॉलेज और काव्य नृत्य समूह का शिखर अद्रिका नस्कर एंड ग्रुप, शिव शक्ति नृत्यालय, प्रथम स्थान मणिशंकर कला केंद्र, द्वितीय स्थान आर्यन ग्रुप, राजा नरेंद्रलाल खां गोप कॉलेज, तृतीय स्थान अनुष्का ग्रुप हाजीनगर आदर्श हिंदी बालिका विद्यालय और प्रथम विशेष श्रेया ग्रुप, हाजीनगर आदर्श हिंदी बालिका विद्यालय को मिला। रूपेश यादव, जूही करन,सुशील पांडे, निशा राजभर,श्रीप्रकाश गुप्ता,धनंजय प्रसाद, इंद्रेश कुमार,पंकज सिंह,संजय सिंह ने विशेष सहयोग दिया। कार्यक्रम का सफल संचालन पूजा दूबे,सपना कुमारी और पंकज सिंह ने किया। धन्यवाद ज्ञापन जीवन सिंह ने दिया।

इसके पूर्व 28 दिसम्बर आयोजित चित्रांकन प्रतियोगिता में ‘शिशु’ वर्ग का शिखर सम्मान अईसानी, बिड़ला हाई स्कूल, प्रथम स्थान अनुराग प्रसाद वर्मा, जवाहरलाल नेहरू विद्यापीठ, द्वितीय स्थान पुष्पांजलि साव, जवाहरलाल नेहरू विद्यापीठ, तृतीय स्थान अईशिका बासु, बिड़ला हाई स्कूल, प्रथम विशेष तानीषी राय, आदित्य अकादमी, द्वितीय विशेष सताकशी उपाध्याय, बिड़ला हाई स्कूल और तृतीय विशेष नियति पाण्डेय, राधिका टाउन को मिला। ‘अ’ वर्ग ऑफ़लाइन का शिखर सम्मान आरती ओझा, रतन आर्ट सेंटर, प्रथम स्थान रंजना गिरी, आर्य विद्यापीठ, द्वितीय स्थान खुशी कुमारी साव, रतन आर्ट सेंटर, मधुमीता कुमारी, श्री कृष्णा विद्यामंदिर हाई स्कूल, प्रथम विशेष तकी सईदा बानो, राम दुलारी हिंदी हाई स्कूल, द्वितीय विशेष अलीना परवीन, आर्य विद्यालय, तृतीय विशेष श्रीया बेहरा, ग्रेस इंटरनेशनल हाई स्कूल, चतुर्थ विशेष ईशिका चौहान, कांकिनारा आर्य विद्यालय को मिला। कविता पोस्टर वर्ग ‘क’ ऑफलाइन का शिखर सम्मान चांदनी कुमारी, आर.बी.सी. कॉलेज फ़ॉर वीमेन, प्रथम स्थान राजीव कुमार मांझी, अब्दुल कलाम सोशल ग्रुप आर्ट अकादमी, द्वितीय स्थान सुनीता चौरसिया, रतन आर्ट सेंटर, तृतीय स्थान अंकिता कुमारी, खिदिरपुर कॉलेज, प्रथम विशेष फुल मोहम्मद, के.जी. टी. एम. बागडोगरा, द्वितीय विशेष शिव कुमार दास और तृतीय विशेष राहुल भूजेल, कालीपद घोष तराई महाविद्यालय को मिला। काव्य आवृत्ति प्रतियोगिता में ‘शिशु’ वर्ग ऑनलाइन का प्रथम स्थान दर्श श्याम सूखा, द्वितीय स्थान अरमान आनंद और तृतीय स्थान संयुक्त रूप से शिवांगी सिंह और हिमांशु अग्रवाल, विशेष पुरस्कार वियान मिश्रा को मिला। ‘शिशु’ वर्ग का ऑफलाइन में शिखर सम्मान सोनल साव, प्रथम स्थान पनभ श्रॉफ, द्वितीय स्थान ध्रुविका सोनछात्रा, तृतीय स्थान स्वराज पाण्डेय, प्रथम विशेष पीहू मिश्रा, द्वितीय विशेष किंजल पासवान तृतीय विशेष अंकिता गुप्ता, चतुर्थ विशेष इति श्रीवास्तव और प्रोत्साहन पुरस्कार संयुक्त रूप से अदिति सिंह और अध्ययन गुप्ता को मिला। ‘अ’ वर्ग ऑनलाइन का प्रथम स्थान साक्षी झा, द्वितीय स्थान राखी साव, तृतीय स्थान संयुक्त रूप से रोशनी साव और आयुषी पाण्डेय,विशेष पुरस्कार आहाना आनंद को मिला। ‘अ’ वर्ग ऑफलाइन का शिखर सम्मान सुमित दास, विद्या विकास हाई स्कूल, प्रथम स्थान पुष्पा पंडित, गौरीपुर हिंदी हाई स्कूल, द्वितीय स्थान राहुल चौधरी, गौरीपुर हिंदी हाई स्कूल, तृतीय स्थान संयुक्त रूप से निकुंज नागोरी, लक्ष्मीपत सिंघानिया अकादमी और वर्षा जायसवाल, सेंट ल्युक्स डे स्कूल, प्रथम विशेष संजना जायसवाल, गुरुकुल ग्लोबल, द्वितीय विशेष कनकमा रेड्डी, विधा विकास हाई स्कूल, तृतीय विशेष जागृति श्रीवास्तव, साल्ट लेक शिक्षा निकेतन और चतुर्थ विशेष सिद्धि जैन, महादेवी बिड़ला शिशु विहार को मिला। ‘क’ वर्ग ऑफलाइन का शिखर सम्मान दीपा ओझा, कलकत्ता विश्वविद्यालय, प्रथम स्थान पूजा शर्मा, खुदीराम बोस सेंट्रल कॉलेज, द्वितीय स्थान राजू प्रसाद कोइरी, आर. बी. सी. सांध्य महाविद्यालय, तृतीय स्थान निकिता पाण्डेय, हावड़ा नवज्योति, प्रथम विशेष काजल सिंह, हावड़ा नवज्योति, द्वितीय विशेष महिमा भगत, हावड़ा नवज्योति, तृतीय विशेष संध्या राम, खिदिरपुर कॉलेज, चतुर्थ विशेष संयुक्त रूप से चंदन भगत, आर. बी. सी. सांध्य महाविद्यालय और अंकिता कुमारी, खिदिरपुर कॉलेज, पंचम विशेष कृति यादव, कलकत्ता विश्वविद्यालय और छठा विशेष संस्कृति साव, कलकत्ता महिला कॉलेज को मिला।

Previous articleवीरांगनाओं ने मनाया संधि उत्सव
Next articleभवानीपुर कॉलेज ने लिंग संवेदीकरण विषय पर वेबिनार 
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × five =