‌फंगस‌ ‌के‌ ‌इलाज‌ ‌के‌ ‌लिए‌ ‌ एमएसएन‌ ‌लैब्स‌ ‌ने‌ ‌लांच‌ ‌की‌ ‌पोसाकोनाज़ोल‌

0
32

कोलकाता :‌ ‌एमएसएन‌ ‌लैबोरेट्रीज़‌ ‌प्रा.लि.‌ ‌(एमएसएन)‌ ‌ने‌ ‌आज‌ ‌भारत‌ ‌में‌ ‌पोसाकोनाज़ोल‌ ‌लांच‌ ‌करने‌ ‌की‌ ‌घोषणा‌ ‌की।‌ ‌एमएसएन‌ ‌ने‌ ‌ब्रांड‌ ‌नाम‌ ‌पोसा‌ ‌वन‌ ‌के‌ ‌तहत‌ ‌100‌ ‌एमजी‌ ‌डिलेड‌ ‌रिलीज़‌ ‌टैबलेट‌ ‌और‌ ‌300‌ ‌एमजी‌ ‌एंजेक्शन‌ ‌के‌ ‌रूप‌ ‌में‌ ‌यह‌ ‌दवा‌ ‌प्रस्तुत‌ ‌की‌ ‌है।‌ ‌पोसाकोनाज़ोल‌ ‌एक‌ ‌ट्रियाज़ोल‌ ‌एंटीफंगल‌ ‌एजेंट‌ ‌है‌ ‌जो‌ ‌म्यूकोरमायकोसिस‌ ‌के‌ ‌मरीजों‌ ‌का‌ ‌इलाज‌ ‌करने‌ ‌के‌ ‌लिए‌ ‌जाना‌ ‌जाता‌ ‌है।‌ ‌
‌कोविड-19‌ ‌से‌ ‌ठीक‌ ‌हो‌ ‌रहे‌ ‌कई‌ ‌मरीजों‌ ‌में‌ ‌म्यूकोरमायकोसिस‌ ‌नामक‌ ‌दुर्लभ‌ ‌और‌ ‌मारक‌ ‌फंगल‌ ‌संक्रमण‌ ‌पाया‌ ‌गया‌ ‌है,‌ ‌जो‌ ‌ब्लैक‌ ‌फंगस‌ ‌के‌ ‌नाम‌ ‌से‌ ‌मशहूर‌ ‌है।‌ ‌मृत्यु‌ ‌दर‌ ‌बढ़‌ ‌रही‌ ‌है‌ ‌और‌ ‌इस‌ ‌कठिन‌ ‌वक्त‌ ‌में‌ ‌ऐंटी-फंगल‌ ‌दवा‌ ‌की‌ ‌कमी‌ ‌बनी‌ ‌हुई‌ ‌है।‌ ‌ ‌‌ऐंटी-फंगल‌ ‌दवाओं‌ ‌के‌ ‌अनुसंधान‌ ‌एवं‌ ‌विनिर्माण‌ ‌में‌ ‌सक्षम‌ ‌एमएसएन‌ ‌अपने‌ ‌मजबूत‌ ‌वितरण‌ ‌नेटवर्क‌ ‌एवं‌ ‌अपनी‌ ‌फील्ड‌ ‌फोर्स‌ ‌के‌ ‌जरिए,‌ ‌सक्रियता‌ ‌से‌ ‌पूरे‌ ‌भारत‌ ‌में‌ ‌मरीजों‌ ‌तक‌ ‌पहुंच‌ ‌रही‌ ‌है‌ ‌और‌ ‌पोसा‌ ‌वन‌ ‌तक‌ ‌पहुंच‌ ‌सुनिश्चित‌ ‌कर‌ ‌रही‌ ‌है।‌ ‌ ‌एमएसएन‌ ‌ने‌ ‌अपनी‌ ‌इनहाउस‌ ‌आर‌ ‌एंड‌ ‌डी‌ ‌एवं‌ ‌विनिर्माण‌ ‌इकाईयों‌ ‌में‌ ‌ऐक्टिव‌ ‌फार्मास्यूटिकल‌ ‌इनग्रिडियेंट‌ ‌और‌ ‌पोसा‌ ‌वन‌ ‌के‌ ‌फॉर्मुलेशन‌ ‌को‌ ‌विकसित‌ ‌किया‌ ‌है।‌ ‌इस‌ ‌दवा‌ ‌को‌ ‌भारतीय‌ ‌औषध‌ ‌महानियंत्रक‌ ‌ने‌ ‌मंजूरी‌ ‌दी‌ ‌है‌ ‌और‌ ‌यह‌ ‌अंतर्राष्ट्रीय‌ ‌गुणवत्ता‌ ‌मानकों‌ ‌पर‌ ‌खरी‌ ‌उतरती‌ ‌है।‌ ‌कोविड‌ ‌ट्रीटमेंट‌ ‌रेंज‌ ‌के‌ ‌हिस्से‌ ‌के‌ ‌तौर‌ ‌पर‌ ‌एमएसएन‌ ‌पहले‌ ‌ही‌ ‌फाविलो‌ ‌(फाविपिराविर)‌ ‌को‌ ‌200एमजी,‌ ‌400एमजी‌ ‌व‌ ‌800एमजी‌ ‌के‌ ‌माप‌ ‌में‌ ‌तथा‌ ओसलो‌ ‌(ओसेल्टामिविर)‌ ‌75एमजी‌ ‌कैप्सूल‌ ‌में‌ ‌और‌ ‌ऐलाई‌ ‌लिली‌ ‌के‌ ‌साथ‌ ‌लाइसेंस्ड‌ ‌बारिडोज़‌ ‌(बारिसिटिनिब)‌ ‌को‌ ‌लांच‌ ‌कर‌ ‌चुकी‌ ‌है।‌ ‌एमएसएन‌ ‌की‌ ‌सभी‌ ‌कोविड‌ ‌दवाओं‌ ‌की‌ ‌उपलब्धता‌ ‌व‌ ‌अन्य‌ ‌सहायता‌ ‌के‌ ‌लिए‌ ‌मरीज़‌ एमएसएन‌ ‌कोविड‌ ‌हैल्पलाइन‌ ‌नंबर‌ ‌91005‌ ‌91030‌ ‌पर‌ ‌कॉल‌ ‌या‌ ‌‌customercare@msnlabs.com‌ ‌‌पर‌ ‌ईमेल‌ ‌कर‌ ‌सकते‌ ‌हैं।‌ ‌

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 − five =