110वें स्थापना वर्ष पर ऑक्सफोर्ड लाया ब्लेंडेड लर्निंग सॉल्यूशन ‘ऑक्सफोर्ड इंस्पायर’

0
11

शिक्षकों एवं प्रिंसिपलों के लिए 2 दिवसीय कार्यशाला आयोजित की।

कोलकाता । प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय ऑक्सफोर्ड के विभाग ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस इंडिया ने भारत में अपनी स्थापना के 110 वर्ष पूरे कर लिये हैं। इस अवसर पर राज्य भर के शिक्षकों एवं प्रिंसिपलों के लिए दो दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गयी । इसके साथ ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस (ओयूपी) ने मिश्रित शिक्षण समाधानों के अपने नए सूट – ऑक्सफोर्ड इंस्पायर को आरम्भ करने की भी घोषणा की । ग्रेड 1 से 8 के छात्रों के लिए, ऑक्सफोर्ड इंस्पायर भारत का पहला योग्यता आधारित मिश्रित शिक्षण समाधान है, जिसके मूल में ‘शिक्षार्थी सफलता’ है। समाधान श्री द्वारा लॉन्च किया गया था। सुमंत दत्ता, प्रबंध निदेशक, ओयूपी इंडिया।
नए समय की शिक्षा को ध्यान में रखकर लाये गये ब्लेंडेड लर्निंग प्रोडक्ट के महत्व पर प्रकाश डालते हुए ओयूपी इंडिया के एमडी सुमंत दत्ता ने कहा, पश्चिम बंगाल की एक मजबूत सांस्कृतिक और शैक्षिक राज्य होने की प्रतिष्ठा है। हमें विश्वास है कि राज्य के छात्र और शिक्षक ऑक्सफोर्ड इंस्पायर के अभिनव प्रारूपों की सराहना करेंगे, ताकि अवधारणात्मक सीखने और गुणवत्ता सामग्री तक पहुंच में सुधार हो सके। नया मिश्रित उत्पाद स्कूली किताबों और साथी डिजिटल समाधानों जैसे वीडियो, प्रश्न बैंक, क्विज़ आदि की पेशकश करके समग्र रूप में शिक्षा के लिए छात्रों की निरंतर बदलती जरूरतों को पूरा करेगा। ऑक्सफोर्ड इंस्पायर की नींव एनईपी 2020 द्वारा अनुशंसित दृष्टिकोण के साथ प्रतिध्वनित होती है और आकर्षक विषय और गतिविधि-आधारित मिश्रित शिक्षण मॉड्यूल के माध्यम से प्रदान की जाने वाली अवधारणा-आधारित, क्रॉस-डिसिप्लिनरी शिक्षा पर केंद्रित है।
इस कार्यक्रम में, ओयूपी ने अंग्रेजी पुस्तकों की अपनी बेस्टसेलर श्रृंखला – न्यू ऑक्सफोर्ड मॉडर्न इंग्लिश के एक नए संस्करण का अनावरण किया। पाठ्यपुस्तक (पहली बार 1987 में शुरू की गई), वर्तमान में अपने 36वें संस्करण में है। नया संशोधन, पूरी तरह से नई शिक्षा नीति 2020 के अनुरूप है, अपने शैक्षणिक मूल को बरकरार रखते हुए पाठ्यक्रम का एक आधुनिक संस्करण प्रदान करता है।
ओयूपी ने एक नई व्याकरण श्रृंखला – द ग्रामर स्कॉलर भी लॉन्च की। कक्षा 1 से 8 तक की किताबें मज़ेदार, इंटरैक्टिव तरीके से भाषा सिखाने के लिए डिज़ाइन की गई हैं। यह एनईपी 2020 और सरकार के पारख मूल्यांकन दिशानिर्देशों के अनुरूप है। यह पहला व्याकरण पाठ्यक्रम है जो इंटरैक्टिव शिक्षण उपकरण और शिक्षण सामग्री के साथ एकीकृत डिजिटल एड्स प्रदान करता है।

Previous articleहेक्सागन इंडिया ने पेश किया न्यू लेइका एपी20 ऑटोपोल 
Next articleसमय की कसौटी पर खरी उतरी है भारत – रुस की मित्रता
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + 4 =