88 प्रतिशत रहा उच्च माध्यमिक परीक्षा का परीक्षाफल

0
85

कूचबिहार की अदिशा अव्वल

कोलकाता : पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 12वीं परीक्षा का परिणाम शुक्रवार को जारी कर दिया है। इस बार 88.44 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल रहे हैं। परिषद के अध्यक्ष चिरंजीव भट्टाचार्य ने शुक्रवार की सुबह प्रेस कॉन्फ्रेंस कर टॉप 10 छात्रों की सूची जारी की। उन्होंने बताया कि कूचबिहार जिले की दिनहटा स्थित सनीदेवी जैन हाई स्कूल की छात्रा अदिशा देवशर्मा ने पूरे राज्य में टॉप किया है। उसे 500 में से 498 नंबर मिले हैं। पश्चिम मेदिनीपुर के जलचक्र नटेश्वरी नेताजी विद्यायतन के छात्र सायनदीप सामंत 497 नंबर हासिल कर दूसरे नंबर पर रहे। चार छात्र तृतीय आए हैं जिन्हें 496 नंबर मिले हैं। 495 नंबर हासिल कर 8 छात्र चौथे स्थान पर हैं जबकि 494 नंबर के साथ 11 छात्र पांचवें स्थान पर हैं। शीर्ष 10 की सूची में कुल 272 छात्र अपना स्थान बनाने में कामयाब रहे हैं। इनमें 144 लड़के और 128 लड़कियाँ शामिल हैं। जिलों में पूर्व मेदिनीपुर का प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ रहा है। इसके अलावा पश्चिम मिदनापुर, झाड़ग्राम, पुरुलिया, बांकुड़ा, कालिमपोंग सहित सात जिलों में 90 फ़ीसदी छात्र पास हुए हैं। इस बार भी राजधानी कोलकाता का प्रदर्शन जिलों के मुकाबले निराशाजनक रहा है।

पश्चिम बंगाल उच्च माध्यमिक परीक्षा के परिणाम शुक्रवार को जारी कर दिए गए हैं। इसके साथ ही अगले साल होने वाली उच्च माध्यमिक परी्क्षा की समय सूची भी घोषित कर दी गई है। उच्च माध्यमिक शिक्षा संसद के अध्यक्ष चिरंजीव भट्टाचार्य ने बताया कि अगले साल 14 मार्च से उच्च माध्यमिक की परीक्षाएं शुरू होंगी। उन्होंने बताया कि पूरे पाठ्यक्रम के अनुसार ही परीक्षाएं होंगी। उन्होंने यह भी बताया कि 2023 में होम सेंटर पर परीक्षा नहीं होगी।

जैसे कोरोना से पहले छात्रों को परीक्षा देने के लिए अपना स्कूल छोड़कर दूसरे स्कूलों में जाना पड़ता था वैसे ही अगले साल दूसरे स्कूलों में जाकर परीक्षा देनी होगी। उल्लेखनीय है कि उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद के एक सूत्र ने पहले ही बताया था कि कोरोना की वजह से होम सेंटर पर परीक्षा देने में काफी खर्च हुआ है और अस्थाई तौर पर इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करना पड़ा है। इसीलिए अगले साल से होम सेंटर से अलग स्कूलों में जाकर पहले की तरह परीक्षाएं ली जायेंगी।

माध्यमिक के नतीजे घोषित, 86.60% परीक्षार्थी सफल

इसके पूर्व गत 3 जून को माध्यमिक शिक्षा परिषद य़ानी वेस्ट बंगाल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ने माध्यामिक परीक्षा के परिणाम घोषित किए। माध्यमिक शिक्षा परिषद के अध्यक्ष डॉ. कल्याणमय गांगुली ने संवाददाता सम्मेलन के माध्यम से परीक्षा परिणामों की घोषणा की। इस बार भी जिलों ने कोलकाता को पछाड़ दिया है। सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए पूर्व मिदनापुर जिले ने जिलों में सबसे ज़्यादा सफलता दर्ज की है। कलिंपोंग ने दूसरा स्थान जबकि पश्चिम मिदनापुर जिले ने तीसरा स्थान दर्ज किया है। वहीं, कोलकाता चौथे स्थान पर रहा। 692 नंबर (99%) लाने वाले अर्णव घोराई (बांकुड़ा, रामहरिपुर रामकृष्ण मिशन स्कूल) और रौनक मंडल (पूर्व बर्दवान, बर्दवान सीएमएस स्कूल)

(साभार – सलाम दुनिया डिजिटल)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × four =