रोशनी नादर बनीं देश की सबसे धनी महिला, मुम्बई की महिलाएं सबसे धनी

0
92

कोटक वैल्थ और हुरुन इंडिया ने जारी की ’कोटक वेल्थ हुरुन-लीडिंग वेल्दी वुमन’ रिपोर्ट का दूसरा संस्करण

इस सूची में आठ महिलाएं पद्म पुरस्कारों से सम्मानित हैं 

कोलकाता : रोशनी नादर मल्होत्रा, एचसीएल टेक्नोलॉजीस देश की सबसे धनी महिला हैं। कोटक वेल्थ हुरुन – लीडिंग वेल्दी वुमन में यह बात सामने आयी है। उनके बाद किरण मजुमदार-शॉ, बायोकॉन और लीना गाँधी तिवारी, यूएसवी का नाम आता है। किरण मजुमदार-शॉ, बायोकॉन इस सूची में स्वयं अपने प्रयासों से अमीर बनने वाली सबसे धनी महिला हैं।
इस सूची में आठ अरबपति महिलाएं शामिल हैं, 38 महिलाओं की सम्पत्ति रु. 1,000 करोड़ व उससे अधिक हैं।
इस सूची की 19 महिलाओं के नाम हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2020 में भी शामिल हैं तथा 6 महिलाओं ने हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट 2020 में भी जगह बनाई है। इस सूची में आठ महिलाएं पद्म पुरस्कारों से सम्मानित हैं ।
इस सूची में 31 महिलाएं अपनी खुद की कोशिशों से अमीर बनी हैं -इनमें से 6 महिलाएं प्रोफेशनल मैनेजर और 25 उद्यमी हैं। 6 महिला उद्यमी ऐसी भी हैं जो स्टार्टअप ईको सिस्टम से नाता रखती हैं और इनमें से दो महिलाओं ने तो यूनिकॉर्न कम्पनियां खड़ी की हैं। उनके नाम हैं – नायका की फाल्गुनी नायर और बायजूज़ के थिंक एंडलर्न की दिव्या गोकुल नाथ। 19 महिलाएं 40 वर्ष से कम आयु की हैं।


कनिका टेकरीवाल, जैट सैट गो; अंजना रेड्डी, यूनिवर्सल स्पोर्ट्स बिज़ और विधि शांघवी, सनफार्मा इस सूची में सबसे युवा महिलाएं हैं । फार्मास्यूटिकल्स और टेक्सटाइल्स, अपैरल और ऐक्सैसरीज़ का 25 प्रतिशत आंकड़े के साथ इस सूची में प्रभुत्व है । इनके बाद हेल्थकेयर व फाइनेंशियल सर्विसिस का नंबर आता हैजो क्रमशः 9 प्रतिशतऔर 8 प्रतिशत है ।
मुम्बई से सबसे ज़्यादा महिलाएं (32) इस सूची में हैं। इसके बाद नयी दिल्ली (20) और हैदराबाद (10) का नम्बर आता है । सूची की 15 प्रतिशत महिलाएं ऐसी हैं जो महानगरों से नहीं हैं। लोकोपकार के लिए ज़्यादातर महिलाएं शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र को पसंद करती हैं। इनमें से चार महिलाओं का शुमार हुरुन इंडिया फिलानथ्रोपीलिस्ट 2020 में भी हुआ है।
ऑवसांजं में कोटक महिन्द्रा बैंक (कोटक) के प्रभाग कोटक वेल्थ मैनेजमेंट और हुरुन इंडिया द्वारा जारी कोटक वैल्थ हुरुन-लीडिंग वैल्दी वुमन की रिपोर्ट भारत की सबसे अमीर महिलाओं के बारे में सूचनाओं का संकलन है। यह सूची 30 सितम्बर 2020 को इन महिलाओं की कुल सम्पत्ति के आधार पर तैयार की गयी है । 2020 संस्करण की रिपोर्ट खासतौर पर उन महिलाओं पर केन्द्रित है जो उद्यमी हैं, पेशेवर हैं और अपने पारिवारिक व्यापार में सक्रिय भूमिका निभाती हैं।आँकड़ों के विश्लेषण से तैयार की गयी यह रिपोर्ट भारतीय महिलाओं के बीच सम्पत्ति निर्माण को समझने का प्रयास है। इसके द्वारा भारत की 100 शीर्ष उद्यमी, पेशेवर व कारोबारी महिलाओं की सफलता का उत्सव मनाया गया है। इस सूची में मौजूद महिलाओं की औसत सम्पत्ति रु. 2,725 करोड़ के लगभग है। इस रैंकिंग के लिए रु. 100 करोड़ की सम्पत्ति को न्यूनतम पैमाना रखा गया है।
कोटक महिन्द्रा बैंक की सीईओ (वैल्थ मैनेजमेंट) ओइशर्या दास, ने कहा, ’’बीते दो दशकों में एक निर्णायक विकास यह हुआ है कि महिलाएं सम्पत्ति निर्माता के रूप में बड़े पैमाने पर आगे आई हैं । कोटक वेल्थ हुरुन-लीडिंग वेल्दी वुमन 2020 रिपोर्ट एक दिलचस्प और प्रेरक रुझान का खुलासा करती है-अब पहले से ज़्यादा तादाद में महिलाएं आगे आकर सफलता की कहानियां  लिख रही हैं, ये कामयाब महिलाएं पूरे भारत के विभिन्न शहरों में और विविध उद्योगों में सक्रिय हैं । भारत की आकांक्षा है 2025 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनना और इस लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में महिलाएं सम्पत्ति निर्माता के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।’’
हुरुन इंडिया के एमडी और प्रधान शोधकर्ता अनस रहमान ने कहा, ’’कोटक वेल्थ हुरुन-लीडिंग वेल्दी वुमन 2020 में भारत की सबसे सफल महिला लीडर शामिल हैं। उनकी कहानियां पढ़ी और साझी की जानी चाहिए। वह क्या है जो उन्हें कामयाब बनाता है? वे ऐसा कैसे कर पाती हैं? मुझे उम्मीद है कि यह सूची और अधिक महिलाओं को उद्यमी बनने, कारोबार चलाने और कम्पनियों की अगुआई करने के लिए प्रेरित करेगी।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 1 =