शिक्षिका सोमा मुखर्जी ने बनायी माँ दुर्गा की 0.4 सेंटीमीटर प्रतिमा

0
345
लक्ष्मी शर्मा

बालुरघाट : प्रतिभा कहीं भी निखर सकती है और इसका एक प्रमाण हैं एक मूर्तिकार। बालुरघाट में रहने वाली एक शिक्षिका जो मिनियेचर मूर्तियाँ बनाती हैं।

मूर्तियों का आकार छोटे से छोटा करना, इनका पूरा ध्यान इस पर ही है औऱ बालुरघाट में ये जाना – पहचाना नाम हैं।

सोमा मुखर्जी लगातार तीन सालों से मा दुर्गा की छोटी से छोटी प्रतिमा बनाने के लिए प्रयासरत है।

बचपन से कुछ न कुछ बनाते रहना ही उनका शौक है और मकसद है दुनिया में सबसे छोटी माँ दुर्गा की प्रतिमा बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम करने का।

इस बार सोमा ने जीरो प्वाइंट 4 सेन्टीमीटर की प्रतिमा बनाई है जो माचिस की तीलियों पर निर्मित की गयी है। पर बनाई हुई है।

सोमा मुखर्जी कहती हैं, ‘गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड में नाम दर्ज कराना चाहती हूँ और मैं पूरी कोशिश कर रही हूँ।’ सोमा मुखर्जी के पति का नाम सैकत मुखर्जी है उनका एक बेटा है । जो बीएससी एग्रीकल्चर फर्स्ट ईयर में है।

Previous articleशुभजिता शॉपिंग बैग – नये ऑफर
Next articleव्यवसायीकरण एवं बाजारीकरण है प्रांतीय भाषाओं के गीतों में बढ़ती अश्लीलता का कारण – डॉ. सागर
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 2 =